Experience the Journey of Healing

Let’s start the healing journey with authentic Ayurveda & Ayurveda expert that will rejuvenate the body, mind & soul

    Book an Appointment

    Experts

    you can Trust

    Genuine

    Treatment

    Trained

    Staff

    Authentic

    Product

    Frozen shoulder / shoulder stiffness

    फ्रोजन शोल्डर को समान्य भाषा मेंकं धा जाम होना बोलतेहै। जैसेजैसेउम्र बढ़ती जाती हैयह बबमारी होनेकी संभावना बढ़ती जाती हैयह बबमारी आमतौर मे40 वषष, पर मुख्यता 50 एवं 60 वषषसेअधधक वालों को होती है। पुरुषों की अपेक्षा यह बबमारी ज्यादा तर मबहलाओं मेंहोती है 

    आयुवेद मेंआचायों ने frozen shoulder फ्रोजन शोल्डर को अवबाहुक बताया हैइसमेंअंस सन्धि ( shoulder joint ) मेंबवकार उत्पन्न होतेहैजजसकी वजह सेरोगी या मरीज हाथ को अपनेकिेसेऊपर नहीं उठा पाता है तथा उठातेसमय ददषभी होता है।

    Shoulder joint की हबियां ligaments ( स्नायु) सेजोडी होती हैजो बक एक कै प्सूल सेढके होतेहैं। इस कै प्सूल मेंचचकनाई होती हैजजससेइसमेंगबत ( movement ) आसानी सेहोती रहती है।

    आयुवेद मेंइस रोग के होनेका करण मुख्य रुप सेवात दोष को माना है। जो बक बकसी बाह्य अघात सेया अभयांतर आहार केद्वारा प्रकु बपत या बढ़ जाता हैजजसकी वजह सेshoulder joint मेinflammation और stiffness उत्पन्न हो जाता हैऔर joint की सामान्य बिया मेंबाधा होती हैजजसकी वजह सेददषभी होता हैजब वात दोष (वायु) केसाथ कफ दोष भी संसगषकरता हैतब joint मेstiffness उत्पन्न होती है। कु छ रोगी मेंकफ बक वजह से रात मेंठं डक केकरण sitffness बढ़ जाती है।

    Frozen Shoulder - 1Veda Ayurveda

    करण causes

    • Shoulder joint बक bone tendons and ligaments एक कै प्सूल सेढके होतेहैइनमेकई कारणों से सूजन और कडा पान आ जाता हैजजसकी वजह सेकं धेकी गबत मेंरुकावट पैदा होती हैएवं ददषभी होने लगता है।
    • चोट लगनेसेसूजन होना
    • सजषरी के बाद येहो सकता है
    • अत्याधधक कायषकरनेसेया कु छ वजन उठानेसे
    • बकसी बीमारी की वजह सेजैसे_
    • Cervical spondylitis ,
    • Chronic rheumotoid arthritis ,
    • Arthritis
    • Diabetes की वजह से
    • Thyroid की वजह से
    • व्यक्तत की बढ़ती उम्र केअनुसार उसकेशरीर मेंdegenerative changes होतेहैजजसकेकारण joints मे stiffness होता है
    • आयुवेद केअनुसार वात अथाषत वायुको बढ़ानेवालेआहार बवहार करनेसेशरीर मेंवात प्रकोप हो जाता हैजैस कटु, बततत, कषाय रस, वालेआहार करनेसेशरीर मेंवात प्रकोप होता हैजजसकेकारण frozen shoulder होता है।
    • प्रबतददन ज्यादा व्यायाम करनेसे।
    • गलत अवस्था सेराबि मेंबनद्रा लेना जजसकी वजह सेshoulder joint की muscles पेप्रेशर पडता है। ( Improper posture during sleeping )

    Frozen shoulder केसमान्य लक्षण

    • येमुख्य लक्षण अधधक तर सभी मरीज मेंधमलतेजैस ददष, कठोरता (stiffness ), प्रबतबंधधत गबत (restricted movment)
    • Shoulder शोल्डर की गबत कम हो जाती है
    • हाथ की गबत करनेमेंददतकत होती हैऔर हाथ को कं धेसेऊपर, पीछे, लेजानेमेंतकलीफ होती हैएवं ददषभी होनेलगता है।
    • कं धेमेंसमान्य ददषबना रहता है।
    • रात मेंददषकी तीव्रता बढ़ जाती है।
    • कं धेमेंकठोरता ( stiffness ) आ जाती है। रोज के दैबनक कायषकरनेमेंतकलीफ होती है। येसभी लक्षण हर मरीज मेंतीन चरणों मेंददख सकतेहैजैस
    1. freezing stage – shoulder की कोई भी गबत ददषउत्त्पन करती हैएवं गबत सीधमत हो जाता हैइसका समय 2 से4 महीनेतक रहता है
    2. frozen stage – इस अवस्था मेंददषकाम हो सकता हैपर shoulder joint मेंकठोरता बढ़ जाती है। इसका समय 4 से6महीनेतक रहता है
    3. thawing stage – इस अवस्था मेंगबत होनेलगती हैइसका समय 5 से8 महीनेतक होता है।

    Frozen shoulder केदददसेबचाव केआसन तरीके

    • यदद frozen shoulder बक चशकायत हैतो प्रबतददन व्यायाम या योग करे। योग या व्यायाम करनेसेजो muscle stiffness होती हैउसमेऔर ददषमेंआराम धमलता है
    • बकसी भी औषध युतत तैल सेमाचलश कर सकतेहै
    • Hot water bottle या अन्य बकसी भी प्रकार सेचसकाई कर सकतेहै
    • बफजजयोथेरबपस्ट केद्वारा भी थेरेपी लेसकतेहैजजससेमरीज को एक समय अन्तराल तक लाभ धमलता है।
    • यदद frozen shoulder बकसी बीमारी बक वजह सेतो येexercise केसाथ उस बीमारी के इलाज अवश्य कराएं।
    • जैसा बक ऊपर बताया गया हैबक आयुवेद मेंइस रोग के होनेका करण गलत आहार बवहार केद्वारा माना गया हैतो जो उचचत आहार हैउसेही ग्रहण करेजैसेluffa, , pumpkin, soup, gourd, Brinjal, watermelon , ginger , garlic, kulthi, wheat flour bread, rice, milk ,ghee ,moong dal इन सक्जजयों का प्रयोग न के र जैसे दही, पनीर, भभिंडी, कटाहेल, अरबी आदद
    • येन करे
    • ज्यादा धमचषमसालेसेयुतत भोजन नही करना है
    • Ice cream, cold drink, fast food नही प्रयोग करना है
    • सोतेसमय ध्यान देकी गलत आसान मेंन हो।

    Dietary regimen

    Dietary regimen must be followed in such a way that it could prevent the inflammation and slow down the process of inflammation. 

    Patients suffering from rheumatoid arthritis because of obesity must focus to lose weight. 

    • Use foods with antioxidants and anti-inflammatory properties. 
    • Take raw and lightly cooked food to reduce the process of inflammation. 
    • Use turmeric and ginger in food. 
    • Add fruits in daily food habits. 
    • Add yoghourt to improve the metabolism in body and reduce inflammation. 
    • Probiotics: Use probiotic supplement in diet such as Yoghourt,garlic,onion and ginger in diet,it acts as an effective treatment for reduction of inflammation and treating rheumatoid arthritis. 
    • Fish oils:Omega 3 fatty acids acts like a great anti inflammatory agent.It is proven to be a good agent to reduce the rheumatoid arthritis .So it can also be taken in daily routine but only after doctors advice. 

    Lifestyle regimen

    1. Sleep: Getting enough sleep is an important part of life,but especially it is important in case of rheumatoid arthritis because poor sleep influences the level of pain and movement restriction. Try at least 8 hours of sleep every night.If night sleep is not enough complete the rest in day.
    2. Exercise: Daily exercise is the great way to empower and strengthen the muscles and free movements from restrictions. Exercises must be chosen in such a way that it doesn’t stress the joints. Brisk walking, swimming and aerobics and resistance training helps to improve the strength of muscles.
    3. Yoga: Yoga helps to improve fatigue,chronic pain,stress and anxiety .Yoga may also improve Rheumatoid arthritis pain and inflammation.
    4. Massage: Massage also improves the symptoms associated with rheumatoid arthritis and also helps in reduction of inflammation but it must be performed under an expert’s advice.

    Frozen shoulder सेजुडेकु छ आसान पूछेजानेवालेकु छ सवाल (FAQs)

    Frozen shoulder को कै सेपहचाने।

    कं धेमेंजकडाहट, ददष, हाथ ऊपर उठानेपेतकलीफ होती हैयदद येलक्षण ददख रहेहैतो आप frozen shoulder केमरीज हो सकतेहै

    डॉक्टर सेकब सलाह लेना चाहहए।

    यदद आप पहलेसेबकसी बीमारी सेग्रचसत हैया ऊपर बताए गए लक्षण ददख रहेहैऔर यदद दैबनक कायषकरनेमें ददतकत हो रही हैतो एक बार डातटर सेसलाह अवश्य ले।

    क्या frozen shoulder ममदचचहकत्सा सेसही हो सकता है।

    हााँ, बबल्कु ल ममषचचबकत्सा सेfrozen shoulder सही हो जाता हैजजसकेचलए मरीज को बकसी ममषचचबकत्सक से कराना चाबहए।

    frozen shoulder का आयुवेद उपचार क्या है

    आयुवेद मेंरोग केकरण को खत्म कर के रोग को समाप्त करतेहै। तथा कु छ पंचकमषचचबकत्सा होती हैजजससेयह बबमारी ठीक हो जाती हैजजसकेचलए बकसी अयुवेदाचायषसेअवश्य संपकष करें

    क्या frozen shoulder diabetes मेंज्यादा होता है।

    ऐसा नहीं हैबक frozen shoulder चसफष diabetes मेंजडा होता हैयह बढ़ती उम्र केअनुसार बकसी को भी हो सकता हैजो शारीररक कायषकम करतेहैऔर डायबबटीज होनेका भी यही करण है।